BUDGET 2019: जानिए: क्यों हैं खास, सबको मिले तोहफे (मीडिल क्लास, किसान, जवान और सशक्त भारत का बजट)

1 of
Previous Next

Ad Details

  • Ad ID: 14540

  • Added: February 1, 2019

  • Views: 88

Description

BUDGET 2019: जानिए: क्यों हैं खास, सबको मिले तोहफे (मीडिल क्लास, किसान, जवान और सशक्त भारत का बजट)
छोटे और सीमांत किसानों की आय बढ़ाने के लिए किसानों को आय सपोर्ट के लिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का फैसला किया गया है। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत दो हेक्टेयर से कम जमीन रखने वाले किसानों को हर साल 6000 रुपये मिलेंगे।
बजट की नियत साफ है, नीति स्पष्ट है और निष्ठा अटल है

वित्त मंत्री ने जिस समय अपना बजट भाषण खत्म किया, बाजार में जोरदार तेजी थी। सेंसेक्स 318 और निफ्टी 90 अंकों की तेजी के साथ कारोबार कर रहा है।

लंबे इंतजार के बाद वित्त मंत्री पीयूष गोयल ने कविता पढ़ी – एक पांव रखता हूं, हजार राहें फूट पड़ती हैं। आमतौर पर वित्त मंत्री अपने बजट भाषण में कविताओं और शेरो-शायरी का जमकर इस्तेमाल करते हैं। वित्त मंत्री ने कहा कि ये ऐसा बजट है जिसकी – नियत साफ है, नीति स्पष्ट है और निष्ठा अटल है। ये सिर्फ अंतरिम बजट नहीं है। ये राष्ट्र के विकास के लिए परिवर्तन का वाहक है।

#Budget2019 वित्त मंत्री पीयूष गोयल – वेतनभोगी वर्ग के लिए स्टैंडर्ड टैक्स डिडक्शन को 40,000 रुपये से बढ़ाकर 50000 रुपये किया गया है। बैंक और पोस्ट ऑफिस डिपॉजिट के 10000 से अधिक ब्याज पर टीडीएस लगता था, इस राशि को बढ़ाकर 40000 रुपये कर दिया गया है।

मीडिल क्लास को इनकम टैक्स में छूट का तोहफा

#Budget2019 वित्त मंत्री पीयूष गोयल – मीडिल क्लास को वित्त मंत्री का बड़ा तोहफा, 5 लाख तक की आय पूरी तरह टैक्स फ्री। वित्त मंत्री द्वारा ये घोषणा करते ही सदन में सत्ता पक्ष के लोगों ने मोदी-मोदी के नारे लगाए। ढेड़ लाख रुपये तक की बचत भी टैक्स फ्री। इस तरह बचत करने पर 6।5 लाख रुपये तक का आय टैक्स फ्री होगी। इन उपायों से करीब 3 करोड़ मीडिल क्लास टैक्सपेयर्स को टैक्स से पूरी तरह मुक्ति मिल जाएगी। 

#Budget2019 वित्त मंत्री पीयूष गोयल – 2018-19 के मुकाबले 2019-20 में खर्च में 13 प्रतिशत की बढ़ोतरी होगी। इसमें पूंजीगत व्यय 336293 लाख करोड़ रुपये होगा। एससी और एसटी वर्ग के कल्याण के लिए 2018-19 में 56,619 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया था, 2018-19 में 62,474 रुपये का प्रावधान किया गया है।

वित्त मंत्री ने बताया कि किसानों को दिए गए इनकम सपोर्ट के मद्देनजर जीडीपी के मुकाबले राजकोषीष घाटा आगामी वर्ष के लिए 3।4 प्रतिशत रहेगा। #Budget2019

भविष्य का दृष्टिकोण

वित्त मंत्री ने भविष्य का दृष्टिकोण प्रस्तुत करते हुए इसके दस महत्वपूर्ण आयामों के बारे में बताया— 

  •  नेक्स्ट जनरेशन का इंफ्रास्ट्रक्चर – ये  भौतिक और सोशल दोनों तरह के होंगे।
  •  डिजिटल भारत का निर्माण – भारत के सभी कोने और जीवन के सभी आयाम तक पहुंचने के लिए।
  •  क्लीन और ग्रीन इंडिया – ग्रीन एनर्जी का इस्तेमाल।
  •  ग्रामीण उद्योगों का विकास – आधुनिक तकनीक के इस्तेमाल से गांवों का विकास
  •  स्वच्छ नदियां – सभी भारतीयों के लिए साफ पानी और ब्लू इकनॉमी का विकास
  •  समुद्र और समुद्र तट
  •  गगनयान- 2022 तक भारतीय अंतरिक्ष यात्री का सपना पूरा करना\
  •  खाद्यान्न में आत्मनिर्भरता
  •  स्वस्थ भारत – आयुष्मान भारत योजना
  •  मिनिमम गवर्नमेंट, मैक्सिमम गवर्नेंस
मनोरंजन उद्योग को राहत

#Budget2019 वित्त मंत्री पीयूष गोयल – जनवरी 2019 में जीएसटी कलेक्शन 1 लाख करोड़ रुपये के आंकड़े को पार कर दिया है। पांच करोड़ रुपये से कम टर्नओवर वाले कारोबारी, जिनकी जीएसटी देने वालों में 90 प्रतिशत हिस्सेदारी है, उन्हें तिमाही रिटर्न देने की अनुमति दी जाएगी। 

#Budget2019 वित्त मंत्री पीयूष गोयल – टैक्स कनेक्शन बढ़ा है। इनकम टैक्स विभाग अब ऑनलाइन काम कर रहा है। सभी रिटर्न का 99।54 प्रतिशत रिटर्न फाइल करते ही अप्रूव कर दिया गया।

#Budget2019 वित्त मंत्री पीयूष गोयल – भारतीय फिल्म निर्माताओं को शूटिंग के लिए सिंगल क्लीयरेंस देने की घोषणा। फिल्म उद्योग बड़ी संख्या में रोजगार देता है। मुझे उरी फिल्म देखने का सौभाग्य मिला, जो जोश था हाल के अंदर।

मोबाइल डेटा का इस्तेमाल बढ़ा

#Budget2019 वित्त मंत्री पीयूष गोयल – पिछले पांच वर्षों में मोबाइल डेटा का इस्तेमाल 50 गुना बढ़ा है। इस समय भारत में मोबाइल डेटा के दाम दुनिया में सबसे कम हैं। मोबाइल और मोबाइल पार्ट्स बनाने वाली कंपनियों की संख्या 2 से बढ़कर 268 हो गई है। अगले पांच साल में एक लाख डिजिटल गांव बनाने की योजना है।

#Budget2019 वित्त मंत्री पीयूष गोयल – वंदे भारत एक्सप्रेस से रेल यात्रियों के लिए स्पीड, सर्विस और सेफ्टी बढ़ेगी। इससे मेक इन इंडिया को बढ़ावा भी मिलेगा। 

#Budget2019 वित्त मंत्री पीयूष गोयल – आज भारत में दुनिया की किसी भी जगह के मुकाबले अधिक तेजी से हाईवे बन रहे हैं। हर दिन 27 किलोमीटर हाईवे बन रहे हैं। दशकों से अटके प्रोजेक्ट पूरे हो रहे हैं। सागरमाला से आयात-निर्यात में तेजी आएगी।

रक्षा बजट तीन लाख करोड़ रुपये से अधिक

#Budget2019 वित्त मंत्री पीयूष गोयल – हम सबके लिए खुशी की बात है कि इस बार हमारा रक्षा बजट तीन लाख करोड़ रुपये से अधिक होगा। वन रैंक वन पेंशन के तहत जवानों को 35000 करोड़ रुपये दिए जा चुके हैं।

#Budget2019 वित्त मंत्री पीयूष गोयल – उज्ज्वला योजना के तहत 8 करोड़ एलपीजी कनेक्शन दिए जाएंगे। 6 करोड़ कनेक्शन पहले ही दिए जा चुके हैं। मुद्रा योजना के तहत 75 प्रतिशत बेनिफिशियरी महिलाएं हैं, मातृत्व अवकाश अब 26 महीने का है और प्रधानमंत्री मातृत्व योजना से महिलाएं सशक्त हो रही हैं। आयुष्मान भारत के लॉन्च होने के थोड़े समय में ही करीब 10 लाख लोगों को इसका फायदा मिला है और उनके करीब 3000 करोड़ रुपये बचे हैं।

असंगठित वर्ग के लिए पेंशन योजना 

#Budget2019 वित्त मंत्री पीयूष गोयल – प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन नाम से मेगा पेंशन योजना का ऐलान। 15000 रुपये तक मासिक आय वाले लोगों के लिए न्यूनतम 3000 रुपये की पेंशन मिलेगी। उन्हें 100 रुपये प्रति महीने का योगदान करना होगा। इतना ही योगदान सरकार करेगी। असंगठित क्षेत्र के 10 करोड़ कर्मचारियों को इसका लाभ मिलने की उम्मीद।

#Budget2019 वित्त मंत्री पीयूष गोयल – तेज विकास के चलते ईपीएफओ की सदस्यता में पिछले दो वर्षों के दौरान 2 करोड़ की बढ़ोतरी हुई है। सरकार ने ग्रेच्युटी लिमिट को 10 लाख से बढ़ाकर 30 लाख रुपये करने का फैसला किया है।

#Budget2019 वित्त मंत्री पीयूष गोयल – विभिन्न प्राकृतिक आपदाओं से जूझ रहे किसानों को 2 प्रतिशत ब्याज सहायता और समय से कर्ज के भुगतान पर 3 प्रतिशत का अतिरिक्त ब्याज सहायता। पशुपालन और मछली पालन से जुड़े किसानों को 2% ब्याज सहायता की घोषणा। राष्ट्रीय गोकुल मिशन के लिए आवंटन बढ़ाकर 750 करोड़ रुपये किया गया।

किसानों को आय सपोर्ट योजना

#Budget2019 वित्त मंत्री पीयूष गोयल – छोटे और सीमांत किसानों की आय बढ़ाने के लिए किसानों को आय सपोर्ट के लिए प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना का फैसला किया गया है। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के तहत दो हेक्टेयर से कम जमीन रखने वाले किसानों को हर साल 6000 रुपये मिलेंगे। ये राशि तीन किश्तों में सीधे उनके खातों में ट्रांसफर की जाएगी।  इससे करीब 12 करोड़ किसान परिवारों को सीधा लाभ होगा। योजना 1 दिसंबर 2018 से लागू होगी। 25 करोड़ रुपये चालू वर्ष के लिए और 2019-20 के लिए 75000 करोड़ राशि के प्रावधान का प्रस्ताव।

#Budget2019 वित्त मंत्री पीयूष गोयल – हमारे मेहनती किसानों को फसल का पूरा मूल्य नहीं मिलता था। हमारी सरकार ने इतिहास में पहली बार सभी 22 फसलों का एमएसपी लागत मूल्य से 50 प्रतिशत अधिक तय किया। हमारी सरकार की किसान समर्थन नीतियों की वजह से पैदावार बढ़ी। अंतरराष्ट्रीय बाजार में कीमत घटने और भारत में खाद्य महंगाई में कमी के चलते उनकी आय में कमी आई। इसलिए गरीब किसानों को आय सपोर्ट की जरूरत है।

#Budget2019 वित्त मंत्री पीयूष गोयल – सौभाग्य योजना के तहत हमने लगभग सभी परिवारों को मुफ्त बिजली कनेक्शन दिए हैं। हमने 143 करोड़ एलईडी बल्व उपलब्ध कराए हैं। वर्ष 2014-18 के दौरान प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 1।53 करोड़ घर बनाए गए हैं।

 

देश के संसाधनों पर पहला हक गरीबों का

#Budget2019 वित्त मंत्री पीयूष गोयल – देश के संसाधनों पर पहला हक गरीबों का है। इसके बाद वित्त मंत्री ने सरकार द्वारा कमजोर आर्थिक स्थिति वाले सामान्य वर्ग को दस प्रतिशत आरक्षण, मनरेगा के लिए बजट और खाद्य सब्सिडी बढ़ाने का जिक्र किया। हमारा उद्देश्य है कि गांवों की आत्म बरकरार रखते हुए वहां भी शहरों जैसी सुविधाएं हों। पहले एक गरीब बच्चा पगडंडी पर चलकर स्कूल पहुंचता था। आज उसके गांव में बस पहुंच सकती है। ग्रामीण सड़क बनाने की रफ्तार तीन गुनी हो गई है। 

#Budget2019 वित्त मंत्री पीयूष गोयल – हमारी सरकार ने बैंकिंग सुधार को आगे बढ़ाया। हमारी सरकार में ये दम था कि हम रिजर्व बैंक से कहें कि बैंकों के लोन को देखें और सही स्थिति को देश के सामने रखेंगे। पारदर्शी प्रक्रिया से हमने एनपीए की समस्या का समाना किया। पहले सिर्फ छोटे बिजनेसमैन पर कर्ज वापस करने का दबाव रहता था, अब बड़े बिजनेसमैन को भी चिंता रहती है। बैंकों के रिकैप्टलाइजेशन के लिए 2।6 लाख करोड़ रुपये दिए गए हैं।

URL: https://www।zeebiz।com/

     

Bids

BID Stats : 0  Bids posted on this ad

Let’s Create Your Bid

Only registered user can post offer *

Ad Price

classiera loader

Comments

Leave a Comment

Your email address will not be published. required fields are marked *

Success! Thanks for your comment. We appreciate your response.
You might have left one of the fields blank, or be posting too quickly